दिल में उतर कर नहीं देखा 

मेरे चेहरे से लगाया उसने मेरे किरदार का अंदाजा,

मैं दिल से कैसा हूँ, मेरे दिल में उतर कर नहीं देखा ।।

Advertisements

चकनाचूर हो गये

शीशे की तरह टूटकर चकनाचूर हो गये ,

लग ना जायें किसी को, हम सबसे दूर हो गए !!

कैसे मैं बेवफा कह दूँ उसको

कैसे मैं बेवफा कह दूँ उसको, और कैसे मैं चाहूँ बुरा उसका,
मुझसे बेहतर पाने की चाह में, उसने भी खो दिया है खुद को |

तू वाकिफ अच्छी तरह मेरे जज्बात से है,

वो ताल्लुक ना तोड़ जो तेरी हर बात से है,
तू बता तो सही खफा मेरी किस बात से है,
मत छोड़ मुझे बीच राह में यूँ अकेला,
तू वाकिफ अच्छी तरह मेरे जज्बात से है,
कैसे जी लूँ मैं तुझसे जुदा होकर एक पल,
मेरी हर सांस चलती ही तेरे साथ से है,

तेरे साथ वो गुजरा ज़माना, बहुत याद आता है |

वो तुझसे पहली मुलाकात जिंदगी की,

और वो तेरा मेरी जिंदगी में आना, बहुत याद आता है |

वो मेरी नजरें टिकी हुईं तेरे खूबसूरत चेहरे पर,

और वो तेरा मुझे देखकर नजरें चुराना, बहुत याद आता है |

आँखों में बस गयी है तेरी वो मदहोश हँसी,

मुझे वो तेरा मुस्कुराना, बहुत याद आता है |

करता था मैं तेरा इंतज़ार होकर बेक़रार,

और वो तेरा बेक़रार होकर आना, बहुत याद आता है |

भर कर तुझे अपनी बांहों के घेरे में,

वो तुझे अपनी बांहों में झुलाना, बहुत याद आता है |

करते थे हम प्यार की बातें लेकर हाथों में हाथ,

फिर वो एक दूसरे में खो जाना, बहुत याद आता है |

मैं तो आया था तेरी जिंदगी में हर एक पल के लिए,

पर वो तेरा तन्हा छोड़ जाना बहुत याद आता है,

लौट आओ तुम फिर से मेरी जिंदगी में दोबारा,

तेरे साथ वो गुजरा ज़माना, बहुत याद आता है |

Previous Older Entries