दिखावे के लिए दोस्त बनाता नहीं हूँ

जलाकर शमाँ दोस्ती की फिर बुझाता नहीं हूँ,
हर किसी से मैं दोस्ती निभाता नहीं हूँ,
जिससे भी करता हूँ दोस्ती दिलो जान से करता हूँ,
सिर्फ दिखावे के लिए दोस्त बनाता नहीं हूँ |